LATEST NEWS

बसपा प्रदेश अध्यक्ष आदित्य बृजपाल ने की मुस्लिम समाज की अनदेखी

रिपोर्ट :शादाब अली: रुड़की

हरिद्वार पंचायत चुनाव संपन्न होने के बाद जिस तरह से बसपा से लक्सर विधायक हांजी मोहम्मद शहजाद और मंगलौर से हाजी सरवत करीम अंसारी ने पार्टी के बड़े नेताओं पर अपनी अनदेखी का आरोप लगाया और कहा जिस तरह से बसपा प्रदेश अध्यक्ष आदित्य बृजवाल और उनके पिता पूर्व विधायक हरिदास ने बसपा को अपनी निजी पार्टी बना दिया है, इस बार पंचायत चुनाव में बाप बेटे ने पार्टी के बड़े नेताओं की अनदेखी कर अपने करीबियों को पंचायत टिकट बांटे और सामान्य सीटों पर भी दलितों को चुनाव लड़ाना भारी पड़ा है

बसपा विधायक हाजी मोहम्मद शहजाद ने आज अपने कार्यालय पर एक प्रेस वार्ता कर प्रदेश अध्यक्ष से लेकर प्रदेश प्रभारी तक बसपा के तमाम बड़े नेताओं पर मुस्लिम समाज और अपनी अनदेखी का आरोप लगाया जिस तरह से उन्होंने कहां की हर समाज सम्मान रखता है तो उतना ही सम्मान मुस्लिम समाज भी रखता है और जितना सम्मान आदित्य बृजवाल और हरिदास रखता है उतना ही सम्मान मोहम्मद शहजाद और सरवत करीम अंसारी रखते हैं जिस तरह से सोशल मीडिया पर हमें दलाल और बिके हुए कहा जा रहा है यह जरूर किसी के इशारे पर किया जा रहा है उन्होंने कहा सोशल मीडिया पर हमें दलाल न कहकर अगर हिम्मत है तो हमारे सामने आकर बात रखें 2012 विधानसभा में दो दलित विधायक और एक मुस्लिम विधायक पार्टी के जीत कर आए थे तब दोनों दलित विधायक दूसरी पार्टी के साथ बसपा को छोड़कर चले गए थे तब भी बसपा की लाज एक मुस्लिम समाज के विधायक नहीं बचाई थ हम लोग हमेशा पार्टी के लिए समर्पित रहे और आगे भी रहेंगे

बसपा प्रदेश अध्यक्ष आदित्य बृजवाल ने कहीं ना कहीं मुस्लिम समाज से दुश्मनी निकालने का काम कर रहा है अगर उनकी दुश्मनी मोहम्मद शहजाद या फिर सरवत करीम अंसारी से है तो वह दुश्मनी हमारे से निकाले ना कि मुस्लिम समाज से मुस्लिमों को जितनी उनकी भागीदारी है उतने टिकट आखिर क्यों नहीं दिए अगर मुस्लिम समाज को टिकट दिए तो वहां पर दिए गए जहां पर जीतने की हैसियत नहीं थी
वह यहीं नहीं रुके उन्होंने कहा जिस तरह से पार्टी नेतृत्व ने पार्टी को दबाने का काम किया और पार्टी का गणित बिगाड़ने का काम किया गया जब बीजेपी सरकार बेईमानी से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशियों को हराने का काम कर रही थी तब हमें और पार्टी के नेताओं को क्यों नहीं बुलाया गया तब कहां गए थे पार्टी के यह सर्वे सर्वा जब लंका लूट रही थी और बहुजन समाज पार्टी को लूटने का काम किया जा रहा था उन लोगों को बस एक ही विशेष वर्ग के लोग दिखाई दे रहे हैं कि उन पर लाठीचार्ज हुआ उनको मुस्लिम समाज के वह लोग नहीं दिखाई दे रहे हैं जिन पर पुलिस ने खूब लाठियां भांजी और उन को हराने का काम किया क्यों प्रदेश अध्यक्ष अन्य समाज और मुस्लिम समाज की बात नहीं उठाता वह सिर्फ एक जिला पंचायत सीट की बात करता है वह तो पूरे प्रदेश का अध्यक्ष है उसको तो पूरे प्रदेश में स्वर्ण समाज की बात करनी चाहिए,
आज उत्तराखंड प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी हरिदास और उसके बेटे आदित्य बृजपाल वालों की जेब की पार्टी बन कर रह गई हम लोग कतई भी यह बर्दाश्त नहीं करेंगे और हमारे द्वारा इसकी निंदा की जाती है चाहे कुछ भी हो हमारी नेता पहले भी मायावती थी और आज भी मायावती है और आगे भी रहेंगी हमारा नेता हरिदास ना है और आगे भी नहीं होगा

मंगलौर से बसपा विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी ने भी प्रदेश अध्यक्ष और प्रदेश के तमाम बड़े नेताओं पर गंभीर आरोप लगाए जिस तरह से उन लोगों ने इस बार पंचायत चुनाव में टिकट तो बांट दिए गए लेकिन बाद में उन लोगों की कोई भी सुध नहीं ली विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी ने कहा जिस तरह से रिजर्व सीट पर दलित लड़ने चाहिए लेकिन प्रदेश अध्यक्ष ने सामान्य सीटों पर भी दलितों को लड़ाने का काम किया जिस कारण कहीं ना कहीं मुस्लिम और अन्य समाज की अनदेखी की गई क्या उन लोगों को सामान्य सीट पर चुनाव लड़ने का अधिकार नहीं था जिस तरह से प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा मनमानी की गई और हम लोगों की भी अनदेखी पार्टी और संगठन के द्वारा की गई इसलिए आज हमने प्रेस वार्ता में अपनी बात रखी और जरूरत आने पर बहन जी से भी समय लेकर उनको भी पूरे मामले से अवगत कराया जाएगा

Shopping Basket